लो चल दिए हम मंजिल की तलाश में

लो चल दिए हम मंजिल की तलाश में
हर मोड़ नया है कठिन है डगर
कुछ कदम डगमगाते लक्ष्य को याद दिलाते
कर विचार मन में पाना है मंजिल को
लो चल दिए हुम मंजिल की तलाश में

हैं अकेले हम करने जहाँ में उजाला
अडिग है मंशा हमारी
करेंगे आकाश में उजाला
है यही इच्छा हमारी इस जीवन रुपी संसार में
लो चल दिए हम मंजिल की तलाश में

करेंगे रोशन दिया को होगा हर दीप उज्जवल
बनायेंगे हम ढाल समय को अन्धकार मिटायेंगे
भर देंगे क्रांति हर मन में नव युवा हम बनायेंगे
लड़ रहे हैं हम इस जीवन के पड़ाव से
लो चल दिए हम मंजिल की तलाश में

One Response

  1. Onkar Kedia 20/04/2013

Leave a Reply