मिलन

मिलने की नज़ाकत दिल मे शिहरण सी जगाए,
वह्कने लगे कदम, फ़क़त उनके गली दौड़ लगाए;

सजन

Leave a Reply