मुहब्बत की नज़्म

माशूक़ की जुल्फों के साये से

लरज़ते काँपते दिल की धड़कन से,
मुहब्बत की नज़्म लिखने की हसरत,
पाना है एहसास के हर लम्हे से

 

Leave a Reply