मासूम से

मासूम से गिरा कर बिजली किया – खाके-चमन ;
किस जुर्म की कलियों को सज़ा देगें, आँसू है बहाने|

सजन

Leave a Reply