आँख के अन्धे

आँख होते हुए भी अन्धे जुनून मे मिट गए;
चाहत के गहर समन्दर मे डूबते चले गए ;

सजन

Leave a Reply