हुस्न जब पुर शबाब होता है

  • हुस्न जब पुर शबाब  होता है
  • वोह खुद अफ्ताब होता है
  • खुशबू मेरे  जहन से  जाती नही
  • उस कि झुल्फ मे जब गुलब होता है
  •  दिखायी ही नही  देता हमे कुच भी
  • यार के रुख पर जब नकाब होता है
  • मस्जिदओ  की  रवा दारी तो कर्झ है
  • हा  मज्लूम की दुआ मे सवाब होता है

  • लिख कर जब सोच ता है “ल ई क”
  • वोह वक्त  बहुत खाराब होता है

3 Comments

  1. Munish lehri 06/04/2013
  2. Munish lehri 06/04/2013
    • laique ahmad ansari laique ahmad ansari 25/03/2014

Leave a Reply