भोजपुरी होली गीत – आज रंग दा

चढ़त फगुनवा में मोर मन बसिया,
भर के गुलाल मारें मोर रंग-रसिया।
आईल होली के त्योहार, रंग छाइल बा हजार,
भंगवा घोर बार बार, आज रंग द।।

गोझिया से कुल जहाँ सोना सोना महके,
धीरे धीरे पिय राजा, भंगवा न सरके।
जे न लीही चटकार, ऒकर चुए लागी लार,
भंगवा घोर बार बार, आज रंग द।।

सांझी के त नौका नौका कपड्वा चमकी,
मलब गुलाल होए नटुली या लमकी।
होली होई झनकार, झूमी पूरा सँसार।
भंगवा घोर बार बार, आज रंग द।।

2 Comments

  1. Vinod Pandey 27/03/2013
  2. Deepankar sethi Deepankar sethi 30/03/2013

Leave a Reply