होली

 

आये हो तुम नाच नाचने
और किसे तुम नचाओगे
पियोगे तुम दिल खोलकर
और ठुस ठुस  कर खाओगे
जोगीजी सर र जोगीजी सर र
जोगीजी ताल न टुटे जोगीजी सर र
आये है हम नाच नाचने
और तुम्हे हम नचायेंगे
खाना पिना किसे फिकर है
झुम झुम होली गायेंगे
जोगीजी सर र जोगीजी सर र
जोगीजी ताल न टुटे जोगीजी सर र
अंग अंग मे रंग लगाके
भाभी से होली खेलोगे
छेड रहेहो शालीको  तुम
बिबी से क्या बोलोगे
जोगीजी सर र जोगीजी सर र
जोगीजी ताल न टुटे जोगीजी सर र
भैया ही होली भाभी से खेलें
कबाबमे हड्डी नही बनना है
शाली तो आधी घरवाली है
बिबीको इसमे क्या कहना है
जोगीजी सर र जोगीजी सर र
जोगीजी ताल न टुटे जोगीजी सर र
आवो मिलके खेलें होली
अपने बापका क्या कुछ जाना है
सब पचडेको मारो गोली
शाली पे तु खुद दिवाना है
जोगीजी सर र जोगीजी सर र
जोगीजी ताल न टुटे जोगीजी सर र
होलीको पर होली सम्झो
गीले सिकवे सब भुलाते है
रंग अबिर फेंक फेंक कर
ठर्रा पी कर होली गाते है
जोगीजी सर र जोगीजी सर र
जोगीजी ताल न टुटे जोगीजी सर र
हरि पौडेल
नेदरलैंड

Leave a Reply