गम के खजाने यहाँ !

गम के खजाने यहाँ,
हर किसी के हिस्से नहीं आते !
हर ख्वाहिश दिल के, कामिल नहीं होते !

कश्तियां हज़ार सागर में निकलतीं हैं,
हर कश्ती को हासिल, साहिल नहीं होते !
तूफां आता है, हर किसी के जीवन में,
हर तूफां के अंजाम, एक से नहीं होते !

प्यार की दुनिया बेवफाई से भरी है,
गर हर आशिक यहां, बेवफा नहीं होते !
टूटते तो दिल यहां, जाने कितनो के हैं,
कुछ मुस्कुरा कर दर्द छुपाते हैं,
कुछ दर्द के दरिया से कभी निकल नहीं पाते !
मिलना बिछड़ना दस्तूर है ज़िन्दगी का,
फक्त जुदाई से रास्ते अलग नहीं हो जाते !

गम के ये अनमोल खजाने यहाँ,
हर किसी के हिस्से नहीं आते !!

-श्रेया आनंद
(5th Jan 2013)

Leave a Reply