छोटे छोटे बच्चे को क्या जीने का अधिकार नहीं

छोटे छोटे बच्चे को क्या जीने का अधिकार नहीं
बिन शोषण के आगे बढने का क्या उनको अधिकार नहीं
हम सबने जन्म लिया है बिन भेद भाव के यहाँ
फिर खुलकर हसने का क्या उनको अधिकार नहीं
सबसे बड़ा सविधान है अपना इस दुनिया का
जोड़ा गया २१ क शिक्षा का अधिकार यहाँ
फिर क्या छोटे तबकों के बच्चे को इसको पाने का अधिकार नहीं …
शोषण की बड़ती सख्या देख कम्पित हो उठता है ये ह्रदय
सोच सोच के थक जाता हु आखिर क्या इनकों, अकेले बढने का अधिकार नहीं
मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में शोषण का है हाहाकार मचा
इनको शोषण मुक्त जीवन देने का क्या सरकार का अधिकार नहीं
अनुच्छेद 23 और २४ करते है बालशोषण का प्रतिषेध यहाँ
फिर इनकों कागज से समाज में उतरने क्या का अधिकार नहीं
भरमार है यहाँ मलिन और कुंठित विचारों वालों का
इनके कहर से क्या इन बच्चों बचने का अधिकार नहीं
हो चुके है 74 % शिक्षित आज हम
फिर इस शिक्षा को मुन्नों पर अधिरोपित करने का क्या अधिकार नहीं
दर्द से तड़प के निकल जाती है उनकी जान
इस दर्द से मुक्ति पाने का क्या उनको अधिकार नहीं
कुछ दरिन्दे ऐसे है जो नापाक इरादों से
बस छोटे छोटे बच्चों को अपना शिकार बनाते है
जान ले लेते है वो हसते खेलते मासूमों की
इसके लिए क्यों उनको मारने का आखिर अधिकार नहीं
गगन है ये सबके लिए , भरते है यहाँ परिंदे उड़ान
फिर हसमुख धारण चेहरों को क्या उड़ने का अधिकार नहीं
कुछ नहीं कहूँगा मै “शिव सिंह ” अब ,थक चूका हु अपनी कथनी से
बहुत हुआ अब आतंक यहाँ दुष्ट आकांछा वालों का ,
उतर पड़ो अब रणभूमि में हाथ में ले हथियार
क्योकि बहुत हो गया अब,जीने का उन्हें अधिकार नहीं …..
♥♥♥शिव कुमार सिंह ♥♥♥

Leave a Reply