पाणिग्रहण

जिसे थामा है
अग्नि को साक्षी मानकर
साक्षी मानकर तैंतीस करोड़ देवी-देवताओं को
एक अधूरी कथा है यह
जिसे पूरा करना है

इसे छोड़ूंगा तो धरती डोल जाएगी ।

Leave a Reply