तो क्या फिल्म चल जायेगी

चार पैसे जेब में डाल कर घर से चल दें,

तो क्या जिन्दगी निकल जायेगी ?

जंगल से जा रहे हों ओर शेर सामने आ जाये,

तो क्या मौत टल जायेगी ?

यूँ ही शोर मचाते रहतें हैं हम अशलील फिल्मों को लेकर,

मल्लिका जो सारे कपड़े पहन ले,

तो क्या फिल्म चल जायेगी ?

___________________________________

गुरचरन मेह्ता

 

Leave a Reply