जरुरी है

हीरा अगर मिल जाये तो

तराशना जरुरी है

ईफ्तदाये इश्क में सच  कहूँ तो

जागना जरुरी है

अब इसे मजबुरी समझो या जान पर बन आई

चार गुन्डे अगर मिल जाएँ तो भाई

भागना जरुरी है

______________________________

गुरचरन मेह्ता 

Leave a Reply