प्यारा -सा चाँद !

1

आज की रात,

केसरिया है चाँद ,

प्यारा सलोना !

2

देखूँ अक्सर

यूँ तो फलक पर

प्यारा -सा चाँद !

3

आज निहारूँ,

बसाए अँखियों में

मैं ‘दो दो’ चाँद !

4

बनी आईना

बसे मोरी अँखियाँ

आज ‘दो’ चाँद !

5

पूजा की थाली

सजे प्यार विश्वास

कुंकुमी आस!

6

लाल किरण,

माँग में  है चमके,

पिया मुस्काए !

7

माथे पे मेरी

उगे सिंदूरी चाँद

दिया लजाए ! 

8

खनके चूड़ी,

मेहन्दी रचे हाथ

पूजा का थाल !

9

लाल चूनर,

मेरी माँग सजाना

तुम्हीं सजन !

10

सजा के मुझे,

अपने हाथों  पिया

करना विदा !

Leave a Reply