बस तुम नही हो

बस तुम नही हो 

कर्म करो फल की  न करो  चिन्ता

यह तुमने क्या कह डाला मेरे कृष्ण
तुम्हारे जमाने मे तो एक हि सुदामा थे
यहाँ सुदामा पैदा करने की होड चल रही है
कई द्रोपतीया भी है यहाँ, दुर्योधन भी है
और
चीर हरण भी हो रही है
बस
तुम नही हो मेरे कृष्ण
तुम्हारे महाभारत और
इस भारत की तुलना ही कहाँ
कई युधिस्थिर यहाँ
चोरी करते पाए गए है
युगो से यहाँ
पाँच पाण्डव का ही तो राज्य है
कौरव तो न जाने कब् से
भुखे नङगे पढ़े है फुटपाथ पर
अब तुम किसे साथ दोगे
मेरे कृष्ण
जिधर भी देखो यहाँ
कंग्स ही कंग्स नजर आते है
बस
तुम नही हो मेरे कृष्ण
हरि पौडेल 

2 Comments

  1. yashoda agrawal 18/12/2012
    • Paudel Paudel 03/01/2013

Leave a Reply