मुश्किल है अब मेरा लौट के जाना….

अजीब है अपना इश्क़ -ऐ- फ़साना ,
तूफ़ान से बचना चराग़ भी जलाना ,

आसान नहीं सफ़र मगर मैं चलूँगा ,
मुश्किल है अब मेरा लौट के जाना !!

Leave a Reply