दीपावली

कलयुग का अंत होने में
समय अभी शेष है
कन्या, मकर, धनु
मीन, हो या तुला
सभी राशियों का खत्म होगा सिलसिला
सोचती हूँ अगर सच हो गई ये बात
ना दिन होगा ना रात
ना नेताओं का भाषण
ना वादों की सौगात
ना महँगाई की मार
ना महबूब का प्यार
डरो नही हो जाओ तैयार
कस लो कमर
जियें या मरें मगर
दीये जलाएगें जी भर
छोड़ेंगे फूलझड़ियाँ
प्यार की, विश्वास कि, सच कि
मिटा कर आपसी द्वेष
क्योंकि ये दीवाली
विशेष है विशेष

Leave a Reply