एक बार आज़मा के तो देख….

एक बार आज़मा के तो देख ,
कोई खंज़र चुभा के तो देख ,

कितनो के ज़ेहन पे छाया हूँ ,
मेरी हस्ती मिटा के तो देख !!

Leave a Reply