क्षणिकायें – राजनीति, दफ्तर

राजनीति

चरि्त्र की होती

निरंतर अधोगति,

मतलब,

राजनीति की होती,

उर्ध्‍वगति।।

******

दफ्तर

यूं तो वे दफ्तर

कम ही जाते हैं।

पर जब भी जातें है,

या तो लेट जाते हैं,

या तो लेट ही जाते है।।
*********

2 Comments

  1. yashoda agrawal 18/10/2012
  2. Yashwant Mathur 20/10/2012

Leave a Reply