गुज़रता रहा इस उम्र का कारवाँ जब तक

गुज़रता रहा इस उम्र का कारवाँ जब तक

तेरी इन्तिजारों में रही जिंदगी तब तक

Guzarta raha is um’r ka kaarwa’n jab tak
teri intizaaro’n me rahi…..zindagi tab tak

~ Sanjeev Arya

Leave a Reply