गाँधीगिरी

गाँधी जी
जिन्हे भूल चुके थे लोग
आज उनके विचारों की देश को जरूरत है
सत्य और अहिंसा का विचार
कितना खूबसूरत है
इन्ही के सहारे देश को मिली आजादी
पर इस आजादी की नेता लोगों ने वाट लगा दी
झूठ बोल कर सच का डंका बजाते हैं
अपनी दादागिरी जमाते हैं
भाई लोग अपनी भाईगिरी का रूतबा बताते हैं
ऐसे मे एक पिक्चर आई लगे रहो मुन्ना भाई
इसमें गाँधीगिरी की महिमा दिखलाई
इसे देखकर दादागिरी की फूलझड़ी,
भाईगिरी का पटाखा
भूल गए लोग
अब गाँधीगिरी का एटमबम जो आ गया है
ये एटमबम सबको भा गया है