दिल और जला ले मेरा

दिल और जला ले मेरा

क्या दिल नही भरा तेरा मुझे प्यार के आंसू रूला के,

कि जला रही हो दिल मेरा, मेरी बेवशी पै मुस्कुरा के ।

दिल और जला ले मेरा

किसी और से मोह्ब्ब्त करके ।

मेरे दिल पै ठोकर मारी,

और के दिल को जहा बनाया ।

अब दिल मे आग लगाती हो,

ख्वाबो मेरे आ – आ के ॥

दिल और जल ले मेरा……….

मेरा हाथ ना थामा तुने,

चली गई तू मुझसे मुकङ के ।

अब मुस्काती हो देख मुझे,

किसी और का हाथ पकङके ॥

दिल और जल ले मेरा……….

मेरी राहे सुनी करके,

और के राह को मुकाम बनाया ।

क्या मिलता अब ईठला कर,

रस्ते से मेरे गुजरके ॥

दिल और जल ले मेरा……….

अब मुझसे क्या लेना है,

बचा क्या तुझसे बिछङके ।

ले-ले बची सासे भी जो है,

चैन आये मुझको भी मरके ॥

दिल और जल ले मेरा……….

Leave a Reply