नेता

राजनीति की दाल में
नारों का तड़का लगाकर
वोटों की रोटीयाँ खाने वाले ये नेता
जाने कैसे हजम कर जाते हैं सब कुछ
डकार तक नही लेते
वादों का पानी पीकर हष्ट-पुष्ट हो रहे हैं
कुर्सी की मिठाई से
डायबटीज भी नही होती है इनको
पशुओं का चारा भी च्युंगम की तरह चबाते हैं
झूठ की हाजमोला से बड़े-बड़े घपलों को पचाते हें

One Response

  1. prem verma 03/12/2012

Leave a Reply