हमसफर है..

कौन कहता है गाफिल उम्र का तन्हा सफर है.

हर कोई बस असलियत से बेखबर है.

चाहे हो आपका गन्तव्य कोई, राह कोई.

सोचिये हर सफर का रास्ता तो हमसफर है..