मेरा दिल हुआ है आँगन उनका….

आईना देख के वो सँवरने लगे ,
जज़्बात हमारे यूँही बिखरने लगे ,

मेरा दिल हुआ है आँगन उनका ,
शब्-ओ-रोज़ यहाँ वो उतरने लगे ,

Leave a Reply