शायद कोई सहर याद हो तुझे….

कोई चेहरा कोई नाम याद नहीं ,
कोई चराग कोई बाम याद नहीं ,

शायद कोई सहर याद हो तुझे ,
मगर मुझे कोई शाम याद नहीं !!

Leave a Reply