हर शख्स तो जहां में खूबसूरत नहीं होता….

हुस्न ईश्क-ओ-अदा की मूरत नहीं होता ,
लौट जाते हम अगर तू जरुरत नहीं होता ,

मेरी बद्शक्ली का तू ख्याल न किया कर ,
हर शख्स तो जहां में खूबसूरत नहीं होता !!

Leave a Reply