मैं महफूज हूँ !!

तेरे होठों के किसी कोने में,
हंसी की तरह मैं महफूज हूँ..

तेरे आँखों के किसी कोने में,
आंसू की तरह मैं महफूज हूँ..

तेरे दिल के कोने में दबे,
यादों की तरह मैं महफूज हूँ..

तेरी चाहत की तपिश में छिपे,
कसक की तरह मैं महफूज हूँ..

तेरे आरज़ू की तन्हाईयों के,
कस्मोकश की तरह मैं महफूज हूँ..

तेरी रूहानी यादों में दफ़न,
जज्बातों की तरह मैं महफूज हूँ.. !!

(inspired by a song called mahfooz hun)

Leave a Reply