जीत लिया जहान

(२ अप्रेल २०११ को भारत द्वारा क्रिकेट  विश्वकप जीतने पर रचित कविता)

विश्वकप फाइनल में मुम्बई में था श्रीलंका से सामना

१२१ करोङ भारतीय कर रहे थे जीत की शुभकामना

टोस जीतकर बल्लेबाजी चुनी कुमार सन्गाकारा ने

लगातार तीन मैडन निकाले जहीरखान यारा ने

जयवर्धने का शतक, दिलशान ने भी बल्ला घुमाया

कुलसेकरा-परेरा ने भी श्रीलंका को शिखर पर पहुंचाया

बोलिंग में जहीर खान – युवराज ने, दो को सलटाया

भज्जी की फिरकी ने दिलशान का दिल दहलाया

पटेल – श्रीसंत ने दिखाई रफ्तार, क्षेत्ररक्षण में माहिर रैना

गुरु गैरी की प्रेरणा से झूझ रही थी ‘माही’ की सेना

पौने तीन सौ का लक्ष्य, अब भारत की पारी थी

वीरु का जीरो पर जाना, अपनी चिन्ता भारी थी

सांसे अटक गई सबकी, सचिन जल्दी जाने से

जगी उम्मीदें वापिस, गौतम के पैर जमाने से

विराट कोहली ने भी साझेदारी कर योगदान किया

बैटिंग क्रम बदलकर धोनी ने संकल्प लिया

एम.एस. रन बनाते रहे, नहीं कहीं रुके

गम्भीर धीरता खोकर, शतक से चूके

चौथे नम्बर पर आए, हरफनमौला युवराज

“मैन ऑफ द टुर्नामेन्ट” ने पहना दिया जीत का ताज

“मैन ऑफ द मैच” धोनी ने, जब मारा पहला छक्का

देशवासियों ने समझा तब, अपना विश्वकप पक्का

रोमांचक मैच में दबाव में आ गए श्रीलंकाई चीते

रोमांच हुआ चरम पर, जब ‘माही’ के छक्के से जीते

सितारों को देखने सितारे आए, सितारामय था वानखेङे मैदान

पूरे मैच में जोश बढाते दिखे, बॉलीवुड स्टार आमिर खान

युवराज कहिन ‘माही’ रिव्यू लेना, आउट समरवीरा

बैटिंग में ‘कप्तान’ पहले आना, ‘टर्निंग पोइंट’ से मैच फिरा

२८ साल बाद इतिहास रचा, खेले ‘धोनी’ के धुरंधर धांसू

सचिन – माही – भज्जी – युवी, रोक न सके खुशी के आंसू

जीत का गीत गाया, फिर से इतिहास दोहराया है

१९८३ का कपिलदेव, आज धोनी बनकर आया है

‘विश्वकप’ जीतकर दिल जीता, जीत लिया यह जहान है

विजय पताका फहरा दी जग में, हमारा भारत महान है

आज मिटा दी विश्व की सब भ्रान्तियां गारत

इस सदी का पथ-प्रदर्शक होगा अपना भारत

यूथ ब्रिगेड ने ‘द ग्रेट सचिन’ का किया सम्मान

लंका फतेह कर बढाया, भारत का स्वाभिमान

स्वाभिमान-सम्मान का आनंद सबजन लेता है

सम्पूर्ण राष्ट्र को बधाई, आज “गोपी” देता है

-Ram Gopal Sankhla “Gopi”

Leave a Reply