चुनाव प्रचार / निष्कर्ष

उत्तर प्रदेश में लगा मेला
नेताओं का,उनके परिवारों का |
पीटते प्रदेश में सुयश का ढोल,
अपने जमीर से हारों का|
झूठे वादे निभाने की ताल ठोकी
सूखे में पानी का वादा,
कहीं भूखों को देंगे रोटी|
चुनाव प्रचार में यारों का
बुलन्द दहकते नारों का|

उत्तर प्रदेश में लगा मेला
नेताओं का,उनके परिवारों का|
शपथ लेते ही बडेगा बिल
नाचेगा मधु का प्याला,
जमेगी मेहफ़िल|
हिसाब ना होगा हरामखोरी का
ना होगा कोई हमदर्द,
मरते किसानों का
भूखों का, बेसहारों का|

उत्तर प्रदेश में लगा मेला
नेताओं का,उनके परिवारों का|