आजादी आजादी चिल्लाते हो

क्या हुआ क्यों इतना शोर मचाते हो
आजादी आजादी चिल्लाते हो

भूख से मरते बच्चे , आनाज फेका जाता है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

सरे आम  रोड पर गुंडे घूम रहे है
पढ़ने  वाले बच्चे का एनकाउन्टर हो जाता है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

शाम को दिल्ली की सड़को पर औरत नहीं निकल सकती
जब की दिल्ली में ही औरत का शासन कहलाता है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

घर में कैद किया सबको कर्फु का नाम दिया
ये कैसी आजादी है मेरी समझ में न आता है
फिर भी मेरा भारत महान  कहलाता है

कालेज जाने वाली लड़की नहीं सुराछित है
गुंडा बैठा संसद में देश का कानून बनता है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

अच्छे लोगो की राजनीती नहीं चल पाती है
बदमाशो की बातो पर जनता ताली बजती है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

ताली बजाना मज़बूरी है नहीं तो गोली खाओ
आगे कुआ पीछे खाई कुछ समझ  में न आता है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

कानून लचीला  जब तक तब तक न मिली आजादी है
फँसी की सजा पाकर भी कोई बैठ मुस्काता है
फिर भी मेरा भारत महान कहलाता है

लोकेश उपाध्याय

 

Leave a Reply