सारे रिश्ते सारे नाते

सारे रिश्ते सारे नाते, पल में एक तोड़ चले,

मेरे भग्वन, मेरे अरमां मेरा भरम तोड़ चले,

दिल के अरमानो की जलती चिता को साथ लिया,

हम तेरे बिन, मेरे हमदम, तेरा ये दर छोड़ चले.

सारे रिश्ते सारे नाते, पल में एक तोड़ चले,

मेरे भग्वन, मेरे अरमां मेरा भरम तोड़ चले..

 

माँगा  क्या  था  तुझसे, बस  मोहब्बत  के   सिवा

उस  खुदा  से, तुझको  पाया, एक  इबादत  की  तरह

लड़  के  दुनिया  की  ठोकरों  से, तुझको  पाया  था  कभी

तुम  सितमगर, बनके  खंजर,   मेरा ये दिल  चीर  चले.

सारे रिश्ते सारे नाते, पल में एक तोड़ चले,

मेरे भग्वन, मेरे अरमां मेरा भरम तोड़ चले,

देना  था  दर्द, बड़े  बेदर्द, मुझको   क्यों  प्यार  दिया

मैंने  तुझ  पर, उस  खुदा  से, ज्यादा  विश्वास  किया

 रेत  के  घर, ये  समुन्दर, फिर  भी  रहते  थे   कभी

मेरे  दुश्मन, दे  के  ठोकर, घर  मेरा  तोड़   चले

 सारे रिश्ते सारे नाते, पल में एक तोड़ चले,

मेरे भग्वन, मेरे अरमां मेरा भरम तोड़ चले..

10 Comments

  1. Sweta 13/08/2012
  2. Shruti Kalra 14/08/2012
  3. Lalita Khanna 14/08/2012
  4. Iam Sweetu 14/08/2012
  5. Dipshikha Rathor 14/08/2012
  6. Pankaj Dhameeja 17/08/2012

Leave a Reply to Lalita Khanna Cancel reply