फहराएँ तिरंगा देकर सलाम

हिन्द-मुश्लिम-सिख-ईसाई
जुदा न होंगे चारों भाई,

हम लेंगे शपथ कर्तव्यों की आज
भारत पर होगा अपना ही राज,

अपनी डगर होगी सच्ची-साधी
न छिनने दें कभी वतन ए आजादी,

जुटकर संभालें भारत की कमान
फहराएँ तिरंगा देकर सलाम,

संकल्प आओ मिल हम करें
भारत की खातिर सब बेहतर करें,

Leave a Reply