मेरी बच्ची का है जन्मदिन

मेरी बच्ची का है जन्मदिन

मेरा आंगन फिर भी उदास

गूँजना है संगीत, है कंहा उल्लास

हवा सर्द है, फिजा है गमगीन

कोयल की तान में भी नहीं मिठास

दूरी है, मन में है मिलने की प्यास

आज मेरी बच्ची का है जन्मदिन

पर मुझे है जन्मदिन का अहसास

गम छोढ़, मनायेंगे खुशी है बिश्वास

मंगल दीप जलाओ,

फूलों से हर द्वार सजाओ,

खूब खुशियाँ मनाओ,

हंसो और गुण गुनाओ,

मेरी बच्ची का जन्मदिन आज

बज उठे हैं सारे सुर और साज

जीवन में खुशियाँ भर-भर आई

बहुत-बहुत हो उसे बधाई

Leave a Reply