हम जिये तो बहुत ही शान से जिये

हम जिये तो बहुत ही शान से जिये
किये वो काम कि सम्मान से जिये

अब देखना है वो क्या रंग दिखाते हैं
जिनके लिए हम जी-जान से जिये

रह जायेगी पहचान ऐ दोस्त ! अगर
ज़िन्दगी को आदमी ध्यान से जिये

कोई रास्ता नहीं, मोहब्बत के सिवा
बात मेरी आप गाँठ बांध के जियें

लग गयी कश्ती आ के कगार से
घडी-भर ही सामना तूफान से किये

Leave a Reply