कोई उनके लिये सिफ़ारिश न करे

कोई उनके लिये सिफ़ारिश न करे
जो खुद अपने लिये गुज़ारिश न करे

या खुदा या खुदा सब करे, क्योंकि
कोई कुछ भी उसके माफ़िक न करे

अगर फासला है तो है, कोशिश कभी
अपनी तरफ से आशिक न करे

चल पड़े तो समझिये बुलावा है
कोई खुद अपनी तारीफ न करे

कोई क्या करे अगर वो कुछ न करे
बेहतर है कि हम साज़िश न करें

Leave a Reply