मिलजुल के शुरुआत करें

मिलजुल के शुरुआत करें
अमन-चैन की बात करें

चमन भरा है फूलों से
हम खुशबू का सम्मान करें

एक बच्चा अपनी कोख का
माता अगर बलिदान करे

पिता शहीदों की गाथा
बच्चों को सुनाये, याद करे

बच्चे होंगे खुशहाल अगर
माली पौधे को प्यार करे

बच्चे कल के सपने हैं
सही राह चलें, ये राम करे

Leave a Reply