राम जपो आराम मिलेगा

दुःख तू ने बटोरा है तो
सुख कैसे मिलेगा
राम जपो आराम मिलेगा

निश्चित है एक बात यहाँ
फिर न अवकाश मिलेगा
झूठ नहीं, मैं सच कहता हूँ
फिर न फूल खिलेगा
राम जपो आराम मिलेगा

रामनाम का प्याला पी ले
सुख भरपूर मिलेगा
उनका कोई अंत नहीं पर
अंत में ‘वही’ मिलेगा
राम जपो आराम मिलेगा

Leave a Reply