मैं तो हो गयी रामप्यारी

हाँ, मानो-न-मानो बन गयी
अब तो बात हमारी
मैं तो हो गयी रामप्यारी

जनम-जनम से देख रही हूँ
प्रभुजी राह तुम्हारी
आँखें जब पथराई मेरी
तब जानी गहराई
मैं तो हो गयी रामप्यारी

रह न सकी रामधुन सुनकर
देखो, हाय, कुँआरी
बड़ी कृपा की, क्यों न करें
हैं राम बड़े उपकारी
मैं तो हो गयी रामप्यारी

Leave a Reply