क्यों नफरत से किसी को नफरत नहीं होती

क्यों नफरत से

किसी को

नफरत नहीं होती

किसी सीने में कोई

चिंगारी नहीं उठती

सिर्फ बात करने से

नफरत ख़त्म

नहीं होती

अपने अहम् की

बली देनी होती

प्यार की

जुबां बोलनी पड़ती

बीमारी समझ

जड़ से काटनी होती

दिल और दिमाग की

सफ़ाई करनी होती

07-06-2012

584-34-06-12

Leave a Reply