दीप पत्थर का

दीप पत्थर का
लजीली किरण की
पद चाप नीरव :
अरी ओ करुणा प्रभामय !
कब ? कब ?

Leave a Reply