नन्हे मुन्हे बच्चे हैं

नन्हे मुन्हे बच्चे हैं

हम देश के सच्चे बच्चे हैं,

मर-मिट जाएँ देश की खातिर

साहसी वीर हम अच्छे हैं,

मात-पिता की आँख के तारे

नटखट प्यारे-प्यारे हैं,

मुस्काते हम फूल के जैसे

आँगन छवि सहारे हैं,

Leave a Reply