अक्की बक्की

अक्की बक्की करें तरक्की
तेरी मेरी दोस्ती पक्की ,

हम दोनों हैं,कितने लक्की
दोनों मिलकर,करें तरक्की ,

गेंहूं पीस रही है चक्की
अच्छी लगे न पूरी कच्ची ,

माँ के हाथ रसोई है सच्ची
साग-से खाएं,रोटी-घी-मक्की ,

मम्मी-पापा को,हम दें पप्पी
यारों को दें,यारी की झप्पी ,

नाम है अपना,अक्की बक्की
पढ़ लिख कर,हम करें तरक्की ,

One Response

  1. Ashu 28/04/2017

Leave a Reply