जानत जे हैँ सुजान तुम्हैँ तुम आपने जान गुमान गहे हो

जानत जे हैँ सुजान तुम्हैँ तुम आपने जान गुमान गहे हो ।
दूध औ पानी जुदे करिबे को जु कोऊ कहै तो कहा तुम कैहो ।
सेत ही रँग मराल बने हौ पै चाल कहौ जु कहाँ वह पैहो ।
प्यार सोँ कोऊ कछू हू कहै बक हौ बक हौ झख मारत रैहो ।

Leave a Reply