शब्द सपना नहीं देखते

शब्दों के नहीं
होती है आंख
कवि के !
जानते हैं आप
कवि देखता है
सपना
कविता में
कविता का ।

Leave a Reply