राजकुमारी-4

किया ही नहीं
जीवन में कभी
नाप-तौल।
अब क्या करूँगा ?

मैंने दिया
जितनी चाह थी ।

राजकुमारी तुमने दिया
बस उतना ही लिया-
मैंने तुम्हारा प्रेम !

बाकी प्रेम
जो नहीं दिया
उसे छूना तो दूर
देखा तक नहीं ।

Leave a Reply