याद मुझे कोई आता बहोत पुराना है…

दिल से दर्द का नाता बहोत पुराना है.

याद मुझे कोई आता बहोत पुराना है..

जाने कबसे सुन रहा हूँ लोगों की,

कोई तो सुन लो मुझे भी कुछ सुनाना है..

आँखें उसकी जाने कबसे पथरा गयी,

हँसी उडाओ उसकी उसे रुलाना है..

इश्क है उनसे बात बहोत पुरानी है,

सबने सुना पर उनको भी तो सुनाना है..

लूटो, मारो, छीनो, कटो, कत्ल करो,

राम-रहीम के चक्कर भी तो लगाना है..

Leave a Reply