मछली

मछली सिर्फ़ चारा देखती है
चारे में छुपा काँटा नहीं

नहीं देखती उस महीन डोर को
जिससे बंधा है चारा
और न ही उस डंडी को
जिससे बंधी है डोर

उन हाथों को भी
नहीं देख पाती है
जो थामे हुए हैं डंडी

मछली देखती है यह सारा दॄश्य
जब वह पानी के बाहर होती है ।

Leave a Reply