चींटी

चींटी भूल गई रस्ता,
आ जा तू मेरे घर आ ।
खाने को दूँगा रोटी,
बेसन की मोटी-मोटी ।
पानी दूँगा पीने को,
फिर खेलेंगे हम दोनों ।

Leave a Reply