एक ही समंदर

सारे समंदर
मेरे अंदर
सारी नदियां भागती सी आती है
टकराती है
और सूख जाती है
समंदर की नहीं कोई एक नदी
फिर भी पाले है हर नदी
एक समंदर
एक ही समंदर

Leave a Reply